Thursday, 22 March 2018

कामयाबी हेतु लग्न और कड़ी मेहनत के साथ -साथ टैलेंट भी होना जरूरी है -मॉडल सुमित शर्मा

                      आज युवाओं में एक्टिंग और मॉडलिंग में अपना कैरियर बनाने का जनून सिर चढ़ कर बोल रहा है। इस क्षेत्र में नाम के साथ -साथ पैसा भी कमाया जा सकता है। यही कारण है कि आज का युवा इस फिल्ड में अपनी किस्मत आजमाने के लिए पुरे जोश -खरोश से अपने कदम बढ़ा रहे हैं। क अच्छे मॉडल के लिए खूबसूरत चेहरे के साथ -साथ कसरती शरीर और टैलेंट का होना भी बहुत जरूरी है होता है।अधिकांश मॉडल यही चाहते हैं कि वह भी फ़िल्मी दुनिया में प्रवेश पाकर शिखर पर पहुंचे और लोगों में उनकी एक अलग पहचान बने। इनमें से कुछ ही भाग्यशाली लोग होते हैं जो अपने बड़े सपने साकार करने में कामयाब हो पाते हैं। 

                लुधियाना (पंजाब ) के  सुमित शर्मा भी मॉडलिंग की दुनिया में एक उभरता स्टार है।अभी कुछ दिन पूर्व ही  सजग वार्ता डॉट कॉम प्रतिनिधि अश्विनी भाटिया से हुई एक मुलाकात में उनके कैरियर से लेकर उनके जीवन से जुडी कई बातों की जानकारी भी मिली। यहां उसी बातचीत के कुछ अंश प्रस्तुत हैं ;    सन 2005 में मॉडलिंग से अपने अभिनय की शुरुआत करनेवाले सुमित का जन्म लुधियाना में 1987 को लुधियाना के मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ और यहीं के एस सी डी गर्वनमेंट कालेज से अपनी शिक्षा -दीक्षा भी पूर्ण की। सुमित को भगवान ने एक सूंदर और आकर्षक चेहरा प्रदान किया। एक ऊँची -लम्बी  कद -काठी वाले पंजाबी गबरू सुमित को जिम से भी गहरा लगाव है इसीलिए वह किसी बॉडी बिल्डर से कम नहीं दीखते है। स्नातक तक की शिक्षा ग्रहण करनेवाले सुमित अब तक लगभग 150 पंजाबी गानों का वीडियो निर्देशन  भी कर चुके हैं। कुछ गानों को उन पर फिल्माया भी गया है। वर्ष 2007 में सुमित को पहली बार एक मॉडल के रूप में पंजाबी गाने की रिकार्डिंग में दर्शकों के सामने अपनी अभिनय को प्रस्तुत करने का मौका मिला। इस गाने को काफी लोकप्रियता मिली और सुमित को भी एक नई पहचान भी मिली। 

              सुमित ने बताया कि उन्होंने पिछले 10 वर्षों में उनको कड़ी मेहनत के साथ ही संघर्ष भी करना पड़ा। आज वो जिस स्थान पर हैं उसके लिए अपने सपने को साकार करने के लिए उन्हें लग्न के साथ एकाग्रता की भी सहायता मिली है। उनसे जब यह पूछा गया कि पंजाबी गानों में कई लोग यह आरोप भी लगते हैं कि उसमें फूहड़ता का समावेश बढ़ता जा रहा है। इस पर उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ गानों में हो सकता है परन्तु पंजाब संगीत को पूरी दुनिया में पसंद किया जाता है। 

          वह कहते हैं कि जो लोग पंजाबी भाषा नहीं जानते वो भी पंजाबी गानों पर झूमते देखे जा सकते हैं। पंजाबी संगीत बहुत हद तक लोगों को थिरकने को मजबूर करता है ,इससे हम पंजाबी सभ्यता ,संस्कृति और संगीत की महत्ता को आसानी से समझ सकते हैं। पंजाबी फिल्मों का भविष्य उज्ज्वल है और बड़ी संख्या में आज पंजाबी फिल्मों का निर्माण भी हो रहा है जिनमें समाजिक मुद्दों को दर्शकों के सामने प्रस्तुत किया जाता है और दर्शक भी उनको पसंद कर रहे हैं। 

       सुमित कहते हैं कि उन्होंने अपने मॉडलिंग के शरू के दिनों में कई प्रिंट फोटो शूट , रैम्प शो और ऐड फिल्मों में काम किया है। इस दौरान उनकी अभिनय क्षमता और प्रस्तुति को दर्शकों ने काफी सराहना मिली। 2011 से सुमित वीडियो निर्देशन के क्षेत्र में सक्रिय हैं। सुमित कहते हैं कि अब उनका अगला पड़ाव मुंबई की फ़िल्मी दुनिया में प्रवेश करना है। उनसे कई निर्माताओं की बातचीत चल रही है और शीघ्र ही उनको किसी अच्छी फिल्म में लिये जाने की संभावना है। उन्होंने यह भी बताया कि उनको पहले भी कुछ निर्माताओं से फिल्मों में काम करने के प्रस्ताव तो मिले लेकिन उनको जिस भूमिका के लिए ऑफर मिले वह उनके टेस्ट के अनुसार न होने के कारण स्वीकार नहीं किये जा सके। उन्होंने अंत में बताया कि उनका सपना यही है कि वह अभिनय के साथ ही निर्देशन में भी एक अच्छा काम करके लोगों को दिखा सकें। वह विडिओ निर्देशक से फिल्म निर्देशक की यात्रा को पूरा करने के लिए पूरी मेहनत और लग्न से जुटे हुए हैं और उनको पूरा विश्वास भी है कि अपने लक्ष्य को अवश्य प्राप्त करेंगे।